राजस्थान विधानसभा चुनाव: गुजरात से वोट देने जाएंगे प्रवासी राजस्थानी

rajasthan assembly elections

Oct 10, 2023 - 10:59
राजस्थान विधानसभा चुनाव: गुजरात से वोट देने जाएंगे प्रवासी राजस्थानी
rajasthan assembly elections

Rajasthan Assembly eElections गांधीनगर. राजस्थान विधानसभा चुनाव का बिगुल बज गया है। इसे लेकर राजस्थान के साथ-साथ गुजरात में बसे प्रवासी राजस्थानी समुदाय में भी उत्साह का माहौल है। लोकतंत्र के इस पर्व में शामिल होने के लिए राजस्थान मूल के मतदाताओं की ओर से कई योजनाएं बनाई गई हैं। गुजरात में लाखों की संख्या में प्रवासी राजस्थानी बसे हैं। यहां पर रोजगार, नौकरी, व्यापार-उद्योग के साथ-साथ श्रमिक भी काफी संख्या में हैं। राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर प्रवासी राजस्थानी वहां जाते हैं। इस बार भी गुजरात में राजस्थान से सटे सीमावर्ती जिलों- डूंगरपुर, बांसवाडा, उदयपुर, चितौड़गढ़, सांचोर, जालोर, सिरोही के मतदाता मतदान के लिए जाएंगे। साथ ही जयपुर, सीकर, जोधपुर और पाली जिले के प्रवासी भी चुनाव के एक दिन पहले ही रवाना हो जाएंगे। मतदान करने के बाद दूसरे दिन यहां लौटेंगे।

भवानी सिंह शेखावत ने कहा

राजस्थान से भी प्रत्याशी या उनके प्रतिनिधि और विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों से लोग यहां प्रवासी राजस्थानी लोगों व सामाजिक संगठनों के साथ बैठक करते हैं। भारतीय जनता पार्टी के अन्य भाषा भाषी प्रकोष्ठ के संयोजक भवानी सिंह शेखावत ने कहा कि राजस्थान से सटे जिलों में गुजरात से भी प्रवासी राजस्थानी चुनाव प्रचार में जाते हैं। कई लोग व्यक्तिगत तौर पर भी अपने नजदीकी प्रत्याशी के चुनाव प्रचार में जुटते हैं। प्रवासी राजस्थान मतदाताओं की बात की जाए तो गुजरात से करीब ढाई सौ से तीन सौ बसों में प्रवासी राजस्थानी वोट देने अपने-अपने चुनाव क्षेत्रों में जाते हैं।

मतदाता जागरूकता का करेंगे काम

राजस्थान-गुजरात मैत्री संघ के अध्यक्ष नरेन्द्र सिंह पुरोहित ने बताया कि राजस्थान विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही प्रवासी राजस्थानी समुदाय में खुशी का माहौल है। उन्होंने बताया कि चुनाव से पहले अहमदाबाद, वडोदरा व सूरत जैसे शहरों में प्रवासी राजस्थानी समुदाय के बीच जाकर वे मतदाता जागरूकता का काम करेंगे। गुजरात से सटे सीमाई जिलों- जालोर, सिरोही, पाली- के मतदाताओं की संख्या ज्यादा है। इन मतदाताओं को वोट करने के लिए लाने-ले जाने की व्यवस्था की जाएगी। सीमावर्ती जिलों की 13 विधानसभा सीटों के वोटर एक दिन पहले यहां से जाएंगे।

वैसे भी गुजरात में दीपावली का लंबा अवकाश रहता है। इसी दौरान राजस्थान के विधानसभा चुनाव होंगे इसलिए ऐसे में कई प्रवासी राजस्थानी वोटरों को अवकाश के साथ-साथ लोकतंत्र के पर्व में सहभागिता का भी मौका मिलेगा।